उत्तराखंड के वन व् उनके प्रकार

उत्तराखंड के वन-

  • उत्तराखंड राज्य में वन का कुल क्षेत्रफल 37999.60 वर्ग किलोमीटर है।
  • उत्तराखंड राज्य के वन का कुल क्षेत्रफल का 71.05 % है।
  • उत्तराखंड राज्य में  वन विभाग के अधीन 25,863.18 वर्ग किमी. है।
  • उत्तराखंड राज्य में  वन पंचायतों के अधीन 12,089 वर्ग किमी. है।

उत्तराखंड के वनों को 3 भागो में बाँटा गया हैं-

  1. आरक्षित वन (Reserved forests) – 24,65 वर्ग किमी. ,जो की 49.63 % है।
  2. अवर्गीकृत वन (Unclassified forest) – 917 वर्ग किमी. ,जो की 2.93 %  है।
  3. संरक्षित वन (Protected Forests) – 614 वर्ग किमी. , जो की 18.48 % है।
  • राष्ट्रीय वन नीति (National Forest Policy) 1998 के अनुसार देश के क्षेत्रफल का 33% भाग पर वन होने आवश्यक है।
  • पर्वतीय क्षेत्र में कम से कम 60% वन होने आवश्यक है।
  • मैदानी क्षेत्रों में कम से कम 25% वन होने आवश्यक है।
  • उत्तराखंड में सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला जिला पौड़ी गढ़वाल है।
  • उत्तराखंड में  सबसे कम वन क्षेत्र वाला जिला उधम सिंह नगर है।
  • नैनीताल क्षेत्र में उत्तराखंड में सबसे अधिक सघन वन है।
  • पौड़ी उत्तराखंड का मध्यम सघन वन वाला क्षेत्र है।
  • पौड़ी जनपद में उत्तराखंड के सर्वाधिक खुले वन है।
  • उत्तराखंड राज्य के गढ़वाल मण्डल में  कुल वनों का 59.70% है।
  • उत्तराखंड राज्य के कुमाऊं मण्डल में कुल वनों का 40.30 % है।

उत्तराखंड के वनों के प्रकार-

1. टुण्ड्रा तुल्य वनस्पति-

  • टुंड्रा तुल्य वनस्पति 3600- 4800 मीटर की ऊंचाई वाले क्षेत्रों में पाई जाती है।
  • इस क्षेत्र से अधिक ऊंचाई का भाग सदैव बर्फ से ढका रहता हैं।

2. घास के मैदान (बुग्याल )-

  • 3800 से 4200 मीटर की ऊंचाई पर मध्य हिमालय में घास के मैदान पाये जाते है।
  • ये मुलायम घास के मैदान होते है जिन्हें बुग्याल कहा जाता है।
  • इन वनों में मुख्य जुनिपर, विलो, रिब्स आदि वृक्ष पाए जाते हैं।

3. उप एल्पाइन तथा एल्पाइन वन –

  • यह वन 2700 मीटर से अधिक ऊंचाई पर पाए जाते है।
  • इनकी मुख्य प्रजातियाँ  सिलवर फर, ब्लू पाइन, स्प्रूस, देवदार, बर्च व बुराँस है।

4. पर्वतीय शीतोष्ण वन-

  • यह वन 1800-2700 मीटर की ऊंचाई पर पाये जाते है।
  • इनके मुख्य वृक्ष चीड़, देवदार, स्प्रूस,बाज, मोरू,खुर्स ,फर आदि है।

5. कोणधारी वन-

  • यह वन 900-1800 मीटर ऊंचाई पर पाये जाते है।
  • इनका मुख्य वृक्ष चीड़ है।

6. उष्ण कटिबन्धीय आद्र पतझड़ वन-

  • यह वन दून क्षेत्रो तथा शिवालिक क्षेत्रो में पाये जाते है।
  • इन्हें मानसूनी वन भी कहा जाता है।
  • सागौन, शहतूत, पलाश, अंजन, बहेड़ा, बांस और साल आदि इन वनों की मुख्य प्रजातियाँ है।

7.उष्ण कटिबन्धीय शुष्क वन-

  • जहा वर्षा कम होती है वहां ये वन पाए जाते है।
  • यह वन 1500 मीटर ऊंचाई से कम वाले क्षेत्रो में पाये जाते है।
  • ढ़ाक, सेमल, गुलर, जामुन व बेर आदि इन वनों की मुख्य वृक्ष है।

8. उपोष्ण कटिबन्धीय वन-

  • उत्तराखंड का उप हिमालय क्षेत्र में यह वन पाए जाते है।
  • यह वन 750 से 1200 मीटर की ऊंचाई पर पाये जाते है।
  • इन वनों का प्रमुख वृक्ष कन्जू, सेमल, हल्दू, खैर, सीसु तथा बांस है।

Latest articles

Related articles

spot_img
error: Content is protected !!